उद्देश्य

उद्देश्य-Purpose

क्या?

पुनरुत्थान महोत्सव

यीशु महोत्सव २०३३ प्रभु यीशु मसीह के मृतकों में से जी उठने के 2000 वें वर्ष को मनाने का दर्शन है

कौन?

सब लोग

वे सब लोग जो लोग यीशु मसीह के पुनरुत्थान पर विश्वास करते हैं। हर जाति, भाषा और जान समूह के लोग।

कहाँ?

सब देशों में

हर स्थान में। सब देशों, महानगरों, स्टेडियमों, पार्कों, कलीसियाओं, और चौराहों में...

कब?

ईस्टर 2033 को

ईस्टर 2033 को यानी अप्रैल 17, 2033 को संसार के अलग-अलग समय-क्षेत्रों में विशेष आयोजन होंगे। इस यादगार तिथि से पहले और बाद में भी अनेक प्रकार के सम्मलेन होंगे।

कैसे?

विश्व भर में उत्सव मनाने के द्वारा

समस्त मसीहियों का छोटा-बड़ा सम्मलेन। इसमें सभी वर्ग और उम्र के लोग एकजुट होंगे। कलीसियाओं के बीच एक ही उद्देश्य को लेकर एकता होगी। उत्सव सम्मेलनों का आयोजन स्थानीय, प्रादेशिक, राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर किया जायेगा।

क्यों?

एक अद्वितीय अवसर

यह प्रभु यीशु के बारे में बताने का सबसे बड़ा अवसर है। प्रभु को यह भेंट चढ़ाने का हमारे लिए आनंदमय सौभाग्य है। विश्वासियों के समूह आत्मा में एक होंगे। प्रभु के अनमोल बलिदान के खातिर उसकी भक्ति और आराधना करेंगे। यह उस सबसे बड़ी आज्ञा का प्रत्युत्तर भी है : अपने प्रभु परमेश्वर से अपने सम्पूर्ण ह्रदय, प्राण, शक्ति और मन से प्रेम करना (लुका 10:27)


Warning: "continue" targeting switch is equivalent to "break". Did you mean to use "continue 2"? in /home/clients/cbb58b1bc17f4df62537351d6e288ae3/web/plugins/system/helix3/core/classes/Minifier.php on line 227